exam main pass hone ke tarike | परीक्षा में पास होने के उपाय

exam main pass hone ke tarike(परीक्षा में पास होने के उपाय)

परीक्षा में पास होने के तरीके


दोस्तों इस समय स्कूल में बोर्ड एग्जाम का माहौल चल रहा है सभी विद्यार्थी बोर्ड एग्जाम देने की तैयारियों में लगे हुए हैं। बोर्ड परीक्षा अप्रैल और मई में होने वाली है परीक्षा आने वाली थी है कि विद्यार्थी डरने लगते हैं विद्यार्थी यह सोचते हैं कि बोर्ड परीक्षा में पास हो पाएंगे या नहीं। विद्यार्थियों को यही चिंता बनी रहती है और वह गूगल पर यूट्यूब पर exam main pass hone ke tarike ढूंढते रहते हैं। विद्यार्थियों के मन में यह बना रहता है कि अब आगे हम क्या करेंगे इस समय विद्यार्थियों को डरने की कोई भी आवश्यकता नहीं है उनको यह विश्वास रखना चाहिए कि हम पेपर में तो अवश्य पास हो जाएंगे।

  परीक्षा में पास होने के उपाय


यह टॉपिक इन विद्यार्थियों के लिए दिया गया है जिन विद्यार्थियों ने पूरे साल मौज मस्ती की है और अच्छे तरीके से पढ़ाई नहीं की है कॉलेज भी नहीं गए हैं और उन विद्यार्थियों को परीक्षा में असफल होने का एक डर सा बन गया है। विद्यार्थियों को यह बताया गया है कि कम समय में किस तरह से परीक्षाओं की तैयारी की जाती है। और exam main pass hone ke tarike किस तरह से अपनाए जाएं और साथ में ही कुछ अच्छे नंबर मिल जाए जिससे उन विद्यार्थियों का रिजल्ट अच्छा सा दिखे। वह विद्यार्थी इस आर्टिकल को पूरी तरह से फॉलो करें और परीक्षा में पास हो जाएंगे।

exam main pass hone ke

 tarike


exam main pass hone ke tarike इन तरीकों को आप लोग अपना कर fail होने से बच सकते हैं और आपके भविष्य में भी यह काम आएगा कि हम किसी आर्टिकल को पढ़कर एग्जाम में पास हो गए थे। बहुत ऐसे विद्यार्थी हैं जो परीक्षा के समय में एग्जाम की तैयारी करने में जुट जाते हैं । इस टॉपिक पर हम विद्यार्थियों को कुछ साधारण से तरीके बताऊंगा जिससे आप पेपर में लिखने का विचार आ जाएगा और साथ में आप लोग एक-दो दिन में एग्जाम की तैयारी भी कर सकेंगे आप पेपर में अवश्य रूप से पास हो जाएंगे या मेरे अनुभव के आधार पर बता रहा हूं क्योंकि मैं खुद एक स्कूल अध्यापक हूं और इन तरीकों से मैं बहुत से विद्यार्थी को एग्जाम में पास होते हुए देखा है।


पेपर में पास होने के 

सबसे आसान से तरीके


अगर विद्यार्थी का पढ़ाई में मन नहीं लगता है तो आप कुछ भी नहीं कर सकेंगे और इसीलिए विद्यार्थी को अपने मन को संदेश देने की आपके जीवन में पढ़ाई और परीक्षा का कितना बड़ा महत्व माना जाता है विद्यार्थी अपने मन को एकाग्र करें और विश्वास रखें कि शांत मन से सोचे आपको इस जीवन में जो यह समय मिला है वह समय बार-बार नहीं मिलेगा अगर विद्यार्थी इस जीवन में पढ़ाई नहीं की तो आज के समय में कुछ भी नहीं कर पाएगा और अपने जिंदगी में आगे नहीं बढ़ पाएगा चाहे व्यक्ति कोई भी subject में कमजोर हो लेकिन विद्यार्थी को एक subject में कमजोर होने के बदले या नहीं सोचना चाहिए कि वह परीक्षा में असफल हो जाएगा और वह अपने मन पर विश्वास करें कि उससे कुछ इस साल की परीक्षा में कुछ नया करके दिखाना है।

Repeat the old question paper


विद्यार्थी को सबसे पहले पेपर के पैटर्न को पूरी तरीके से समझना चाहिए विद्यार्थी अपने मन में यह नहीं सोचा कि परीक्षा में सभी प्रश्न बहुत कठिन होते हैं ऐसा नहीं है परीक्षा में कुछ प्रश्न बहुत ही साधारण और सरल होते हैं आप इस प्रकार के प्रश्न पर ध्यान दें और ऐसे ही सवालों को हल करें कुछ ऐसे सवालों को ढूंढ हैं जिसे कम लिखने पर भी अधिकतर अंक प्राप्त होते हैं विद्यार्थियों को वस्तुनिष्ठ प्रश्न की अधिकतर तैयारी करनी चाहिए।

विद्यार्थी की परीक्षा कल हो चाहे परसों हो इसका मतलब यह नहीं है कि आपके पास पढ़ाई के लिए समय ज्यादा नहीं है और इसीलिए हम आपको 1 दिन का आयोजन बता रहा हूं अगर आपके पास 24 घंटे हैं इसमें से विद्यार्थी को 7 घंटे सोना जरूर चाहिए रात्रि में विद्यार्थी को ज्यादा रीडिंग नहीं करनी चाहिए विद्यार्थी 6 घंटे परीक्षा का समय निकाल दे और 3 घंटे में विद्यार्थी का नहाना खाना हो जाता है। विद्यार्थी को सुबह लगभग 3:00 बजे से 6:00 बजे तक पढ़ाई अवश्य करनी चाहिए और शाम को 7:00 बजे से 9:00 बजे तक पढ़ाई करनी चाहिए। और विद्यार्थी को दिन में भी पढ़ाई करनी चाहिए यादि विद्यार्थी को समय मिलता है तो- विद्यार्थी का जो पेपर कल या परसों होने वाला हो उसे ही विद्यार्थी पड़े रीडिंग करने के साथ-साथ विद्यार्थी लगभग 2 से 3 घंटे तक लेखन कार्य को भी करें और विद्यार्थी एक पुराना प्रश्न पत्र को भी हल करें जिस चैप्टर में सबसे ज्यादा अनकवर कर सकता है विद्यार्थी उस चैप्टर को सबसे अधिक पढ़ें परीक्षा के लिए जाने से पहले विद्यार्थी मेरी कोई नोट्स बनाया है तो विद्यार्थी उस नोट्स को भी पढ़कर ही जाए।

विद्यार्थी को परीक्षा देते समय वह इस बात का ध्यान रखें कि विद्यार्थी का लेखन कार्य सुंदर होना चाहिए क्योंकि लेखन कार्य सुंदर होने के भी अंक प्राप्त होते हैं पेपर देते समय विद्यार्थी आंसर की शुरुआत बहुत ही अच्छे से और उत्तर का अंत बहुत ही अच्छे से करें क्योंकि परीक्षक अधिकतर शुरू और अंत का लेख एक ही देखता है।

एक विद्यार्थी को कुछ प्रश्न का उत्तर नहीं पता है तो वह विद्यार्थी जो पढ़कर गया है उसे ही लिख दे उसे इस प्रकार से लिखे जैसे कि कोई एक अच्छा सा विद्यार्थी लिखा हो और वह दिखने में बहुत सुंदर दिखे ऐसे में परीक्षक नंबर दे देता है।

Read all- उत्तर प्रदेश में बोर्ड परीक्षा की तारीखों का ऐलान

Post a Comment

0 Comments