sanvidhan sabha ka nirman kab hua

sanvidhan sabha ka nirman kab hua (संविधान सभा का निर्माण कब हुआ)


दोस्तों स्वागत है आप लोगों का इस आर्टिकल में अब आप लोगों को sanvidhan sabha ka nirman kab hua और sanvidhan sabha ka gathan kab hua बारे में जानकारी दी है। क्योंकि आप लोगों के सभी प्रतियोगी परीक्षाओं में हाई स्कूल तथा इंटरमीडिएट में sanvidhan sabha ka nirman kab huasanvidhan sabha ka gathan kab hua के बारे में बहुत अधिक पूछा जाता है तथा (Indian Constitution) भारतीय संविधान से संबंधित बहुत से प्रश्न पूछे जाते हैं जैसे कि-

(1) संविधान का निर्माण कब हुआ?
(2) संविधान सभा का गठन कब हुआ?
(3) संविधान सभा का गठन किसके आधार पर हुआ?
(4) sanvidhan sabha ka nirman kab hua
(5) sanvidhan sabha ka gathan kab hua
(6) संविधान को बनाने में कितना रुपया खर्च हुआ
(7) संविधान को बनाने में कितना समय लगा
(8) संविधान सभा में कितनी महिलाएं थी?
(9) संविधान सभा में कितने सदस्य थे?


sanvidhan sabha ka nirman kab hua
sanvidhan sabha ka nirman kab hua


संविधान से संबंधित बहुत से प्रश्न पूछे जाते हैं इन सब के बारे में जानने के लिए आप लोग आर्टिकल को ध्यान से पढ़ें-

पहली बार संविधान सभा का विचार बाल गंगाधर तिलक द्वारा रखे गए स्वराज विधायक में मिलता है 1922 A.D. में पहली बार गांधी जी ने यह कहा था कि भारत का संविधान भारत के लोग बनाएंगे। लेकिन सबसे पहले संविधान सभा की मांग कम्युनिस्ट नेता M.N रॉयने की थी इसके बाद स्वराज दल ने संविधान सभा की मांग की थी इसके बाद 1934 A.D. में कांग्रेस समाजवादी दल ने भी संविधान सभा की मांग की। बाद में अंग्रेज सरकार के स्तर पर कैबिनबैबेल्स, क्रिप्स मिशन, बैबेल्स प्लान इत्यादि प्रस्ताव में संविधान सभा की गठन की बात कही। कैबिनेट मिशन योजना के आधार पर ही संविधान सभा का गठन हुआ।

sanvidhan sabha ka gathan kab hua

(sanvidhan sabha ka gathan) संविधान सभा का गठन कैबिनेट मिशन योजना के आधार पर 9 दिसंबर 1946 A.D. हुआ। जब संविधान सभा का गठन हुआ था तब इसमें 389 सदस्य ही शामिल थे।

• ब्रिटिश प्रांतों से 292 सदस्य
• देसी रियासतों से 93 सदस्य
• कमिश्नरी प्रांतों से 4 सदस्य


Total - (292+93+4) = 389

(1)- 292 सदस्यों का निर्वाचन ब्रिटिश प्रांतों के जन (M.LA) प्रतिनिधि ने किया।

(2)- देसी रियासतों से 93 सदस्यों का मनोनयन हुआ। रियासतों के प्रतिनिधियों का मनोनयन करने के लिए एक समिति बनाई गई इस समिति में देसी रियासतों और ब्रिटिश प्रांतों से संविधान सभा के लिए चुने गए कुछ प्रतिनिधि शामिल थे।

(3) - कमिश्नरी प्रांतों से 4 सदस्यों का मनोनयन गवर्नर जनरल ने किया। संविधान सभा का एक सदस्य लगभग 10 लाख जनसंख्या का प्रतिनिधित्व करता था।

• संविधान सभा के चुनाव के लिए सामान्य मुस्लिम और सिख में बांटा गया था।

 संविधान सभा की बैठक

संविधान सभा के कुल 12 बैठकें हुई थी लेकिन 11 बैठकों में ही संविधान सभा बनकर तैयार हो गया।

(1)  पहली बैठक - संविधान सभा की पहली बैठक 2 दिसंबर 1946 A.D. को हुई इस समय संविधान सभा में कुल 389 सदस्य भाग लिए थे जिसमें 9 महिलाएं शामिल थी।

(2) दूसरी बैठक- संविधान सभा की दूसरी बैठक 31 अक्टूबर 1947 A.D. को हुई इस बैठक में कुल 299 सदस्य शामिल हुए इसका कारण यह था कि अब तक भारत का विभाजन हो चुका था।

भारत का विभाजन करने के लिए 18 जुलाई 1945 को ब्रिटिश संसद ने भारतीय स्वतंत्रता अधिनियम 1947 पारित किया यह अधिनियम 14 और 15 अगस्त को लागू हुआ जिससे क्रमश: पाकिस्तान और भारत बनें।


(3)- संविधान सभा की 11 वीं बैठक 14 नवंबर से 26 नवंबर 1949 तक चली इस बैठक में संविधान को अंतिम रूप दिया गया। इस बैठक में अध्यक्ष सहित 284 सदस्यों के हस्ताक्षर से संविधान को अंगीकृत कर लिया गया।

(4) - संविधान सभा की 12 वीं बैठक 12 जनवरी 1950 को हुई इस बैठक में संविधान सभा ने क्या प्रस्ताव पारित किया कि संविधान निर्माण का कार्य पूरा हो गया है और संविधान सभा की अंतिम बैठक में ही डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद को भारत का पहला राष्ट्रपति बनाया गया।

- मूल संविधान में 395 अनुच्छेद, 22 भाग तथा 8 अनुसूचियां थी।

22 जुलाई 1947 को संविधान सभा ने राष्ट्रध्वज तिरंगा के रूप में अपनाया। रविंद्र नाथ टैगोर द्वारा रचित जन गण मन को भारत के राष्ट्रगान के रूप में स्वीकार किया गया राष्ट्रगान को 24 जनवरी 1950 A.D. को संविधान सभा द्वारा अंगीकृत किया गया।

संविधान सभा कब लागू हुआ?

संविधान सभा 26 नवंबर 1949 को ही अंगीकृत हो गया था और इसी दिन 15 अनुच्छेद व 4 प्रवधान लागू कर दिए गये ।

4 प्रवधान

(1) अंतरिम संसद
(2)  निर्वाचन
(3)  नागरिकता
(4)  संक्रमणकालीन प्रवधान

पूर्ण रूप से संविधान कब लागू हुआ?


भारत का पूर्ण रूप से संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ और इससे देश भारत एक संपूर्ण सम्प्रभु संपन्न गणराज्य बना अर्थ अर्थ सर्वोच्च शक्ति जनता मे आ गई।

संविधान को बनाने में कितने रुपए खर्च हुए?

-भारत के संविधान को बनने में 63 लाख 96 हजार ₹729 खर्च हुए।

भारत के संविधान को बनने में कितने दिन का समय लगा?

-भारत के संविधान को बनने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा।

-डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को भारतीय संविधान के जनक के रूप में माना जाता है।

दोस्तों आप लोगों का हमारा sanvidhan sabha ka nirman kab huasanvidhan sabha ka gathan kab hua आर्टिकल पढ़कर जान गए होंगे कि संविधान सभा का निर्माण कब हुआ और संविधान को बनने में कितना समय लगा? तथा संविधान से संबंधित महत्वपूर्ण प्रश्न-उत्तर आपको याद हो गए होंगे कमेंट बॉक्स में जरूर बताना कि आप लोगों को हमारा आर्टिकल कैसा लगा।

यदि आप कोई सरकारी नौकरी की तैयारी करते हैं तो सरकारी नौकरी की हर जानकारी के लिए हमारे चैनल को सब्सक्राइब करें।

https://youtube.com/channel/UCNMnEkiS8rcaJH5CfIKzZ0g

up home guard syllabus से संबंधित जानकारी नीचे आपको वीडियो में दी गई है-





                       
धन्यवाद



Post a Comment

0 Comments